October 26, 2021

Techopenion

Topic to read

Mems

डॉक्टर- जब तुम तनाव में होते हो क्या करते हो?
मरीज- जी, मंदिर चला जाता हूं…
डॉक्टर- बहुत बढ़िया, ध्यान-व्यान लगाते हो वहां?
मरीज- जी नहीं, लोगों के जूते चप्पल मिक्स कर देता हूं, फिर उन लोगों को देखता रहता हूं…
उनको तनाव में देख कर मेरा तनाव दूर हो जाता है 
——
घर जमाई: आज से मैं रोटी नहीं चावल खाऊंगा। 
सास: ऐसा क्यों?
घर जमाई: मोहल्ले वालों के ताने सुनकर थक गया हूं। रोज कहते हैं कि मैं ससुराल वालों की रोटी तोड़ता हूं।

मरीज- ऑपरेशन सही से करियेगा
डॉक्टर- ऐसा क्यों कहा
मरीज- क्यूंकि सर्जन और विसर्जन में थोड़ा सा ही फर्क है।
यदि आपरेशन सही से हो गया तो आप सर्जन
और यदि आपका हाथ हिल गया तो फिर मेरा
विसर्जन
—-
लड़को को उस समय
सबसे ज्यादा गुस्सा आता है
जब ऑटो में
2 लड़कियों के बीच में लड़का बैठा हो
तब तीसरी लड़की के आने से
ऑटो वाला बोले भाई तू आगे आजा

दामाद ससुर से- बाऊ जी आप की बेटी ने नाक में दम कर रखा है…
ससुर जी- बेटा मेरे बारे में सोच मेरे पास तो उसकी भी मां है..!!

पति: ऐसी चाय बनाओ की पीते ही तन बदन झूमने लगे और मन नाचने लगे

पत्नी: हमारे यहां भैंस का दूध आता है, नागिन का नहीं

एक सत्संग के दौरान :
संत प्रवचन करते हुए जो इस जन्म में नर है वो अगले जन्म में भी नर ही होगा और जो इस जन्म में नारी है वो अगले जन्म में भी नारी होगी , इतने में एक बुढ़िया उठ कर जाने लगी ….
संत : कहाँ जा रही हो ऐसे उठ कर ? 🤔🤔🤔
बुढ़िया : जब अगले जन्म में भी रोटियाँ ही बनानी है तो सत्संग सुन कर क्या फायदा 😂😂😂😆😆

बहू अपने ससुर से : बाबू जी इलाइची खत्म हो गयी है, आप आते हुए ले आएंगे
ससुर : बेटा इलाइची तुम्हारी सास का नाम है और हमारे घर में बड़ों का नाम नहीं लिया जाता
बहू : जी ठीक है मैं आगे से ध्यान रखूँगी….
अगली बार …..
बहू : पिता जी माँ जी खत्म हो गई है , बज़ार से लेते आना 😂😂😂😆😆😆

कोई बताएगा फिल्मों में इस्तेमाल होने वाले तकिए (pillow) कहाँ मिलते हैं ? जिससे लड़ते लड़ते hero heroine उसके परखच्चे उड़ा देते है ?
एक हमारे घर का तकिया है , आज मम्मी ने फेंकर मारा तो मैं दो मिन्ट के लिए कोमा में चला गया था 😂😂😂😆😆😆

शादीशुदा महिला- पंडितजी, मेरे पति हमेशा मुझसे लड़ते रहते हैं। घर की सुख-शांति के लिए कौन-सा व्रत रखूं?पंडितजी- मौन व्रत रखो बेटा, सब बढ़िया होगा!
——
एक गांव में पति अपने दोस्त से : मैंने अपनी पत्नी को कॉल किया तो सामने से आवाज आई…
“आप जिसे कॉल कर रहे हैं वो आपकी पहुंच से बाहर है!”
कमाल है… इसको कैसे पता चल गया?

एक व्यंग हैं पसंद आये तो एक स्माइल दीजियेगा लिखा किसने पता नहीं

👇जिसने भी लिखा
उम्दा लिखा👇

💮यह नदियों का मुल्क है,
पानी भी भरपूर है।
बोतल में बिकता है,
पन्द्रह रू शुल्क है।
:
💮यह गरीबों का मुल्क है,
जनसंख्या भी भरपूर है।
परिवार नियोजन मानते नहीं,
नसबन्दी नि:शुल्क है।
:
💮यह अजीब मुल्क है,
निर्बलों पर हर शुल्क है।
अगर आप हों बाहुबली,
हर सुविधा नि:शुल्क है।
:
💮यह अपना ही मुल्क है,
कर कुछ सकते नहीं।
कह कुछ सकते नहीं,
बोलना नि:शुल्क है।
:
💮यह शादियों का मुल्क है,
दान दहेज भी खूब हैं।
शादी करने को पैसा नहीं,
कोर्ट मैरिज नि:शुल्क हैं।💮
:
💮यह पर्यटन का मुल्क है,
रेलें भी खूब हैं।
बिना टिकट पकड़े गए तो,
रोटी कपड़ा नि:शुल्क है।💮
:
💮यह अजीब मुल्क है,
हर जरूरत पर शुल्क है।
ढूंढ कर देते हैं लोग,
सलाह नि:शुल्क है।💮
:
💮यह आवाम का मुल्क है,
रहकर चुनने का हक है।
वोट देने जाते नहीं,
मतदान नि:शुल्क है।💮

💮यह शिक्षकों का मुल्क है,
पाठशालाएं भी खूब है,
शिक्षकों को वेतनमान देने के पैसे नहीं,
पढ़ना,खाना,पोशाक निःशुल्क है।💮

: बेचारा आदमी:
जब सर के बाल न आये तो दवाई ढूँढता है..,
जब आ जाते है तो नाई ढूँढता है..,
जब सफ़ेद हो जाते है तो डाई ढूँढता है…!
और जब काले रहते हैं तो लुगाई ढूँढता है

      🙏मुस्कुराईये निशुल्क है🙏

जन्मास्टमी में माखन मिश्री
गणेश चतुर्थी में लड्डू पेड़े
पितृ पक्ष में खीर पूड़ी
नवरात्र में रबड़ी, साबूदाना
बहुत खा लिए ………….
अब झाड़ू पौंछा हाथ में लेलो….

दीपावली आ रही है घर की साफ सफाई में लग जाओ 😃😃

फिर शादी ब्याह में ले चलेंगे

थोड़े ठंडे दिमाग से शांति के साथ पढ़े

राजा दशरथ ने कैकयी का कहना माना चाहे प्राण त्यागना पड़े , लेकिन आज पूजे जाते है …

राम ने सीता का कहना माना और हिरण के पीछे चल दिये (फिर चाहे रावण से भिड़ना पड़ा ) ओर आज पूजे जाते है..

लेकिन रावण ने मन्दोदरी का कहना नही माना और मारा गया, और आज जलाया जाता है

इसलिए दशहरा का अर्थ समझे
व बगैर अपना दिमाग लगाये, सीधे सीधे पत्नी का कहना माने
आगे आपकी मर्जी


हैप्पी दशहरा
जनहित में जारी

रावण ने सीताहरण किया

हनुमान जी ने सीता जी को वापस लाने में राम की मदद की

श्रीराम जी ने रावण का वध किया

परन्तु

इस पूरे झमेले में

गाड़ी धोने और पूजने की परंपरा कब से शुरू हुई कुछ पता नहीं चल रहा

मिट्टी के बर्तनों से स्टील और प्लास्टिक के बर्तनों तक
और फिर कैंसर के खौफ से दोबारा मिट्टी के बर्तनों तक आ जाना,

अंगूठाछाप से दस्तखतों (Signatures) पर
और फिर अंगूठाछाप (Thumb Scanning) पर आ जाना,

फटे हुए सादा कपड़ों से साफ सुथरे और प्रेस किए कपड़ों पर
और फिर फैशन के नाम पर अपनी पैंटें फाड़ लेना,

सूती से टैरीलीन, टैरीकॉट और फिर वापस सूती पर आ जाना

ज़्यादा मशक़्क़त वाली ज़िंदगी से घबरा कर पढ़ना लिखना
और फिर IIM MBA करके आर्गेनिक खेती पर पसीने बहाना,

क़ुदरती से प्रोसेसफ़ूड (Canned Food & packed juices) पर
और फिर बीमारियों से बचने के लिए दोबारा क़ुदरती खानों पर आ जाना,

पुरानी और सादा चीज़ें इस्तेमाल ना करके ब्रांडेड (Branded) पर
और फिर आखिरकार जी भर जाने पर पुरानी (Antiques) पर उतरना,

बच्चों को इंफेक्शन से डराकर मिट्टी में खेलने से रोकना
और फिर घर में बंद करके फिसड्डी बनाना और होश आने पर दोबारा Immunity बढ़ाने के नाम पर मिट्टी से खिलाना…..

गाँव, जंगल, से डिस्को पब और चकाचौंध की और भागती हुई दुनियाँ की और से
फिर मन की शाँति एवं स्वास्थ के लिये शहर से जँगल गाँव की ओर आना

इससे ये निष्कर्ष निकलता है कि टेक्नॉलॉजी ने जो दिया उससे बेहतर तो प्रकृति ने पहले से दे रखा था ..!!

आओ उसका आदर करें…

आओ अब लौट चलें !!

Hilarious 😂😂..

Some days ago, I came to know a girl on the Internet. Beautiful…

After some chat, I felt that we had connected at a deeper level.

Yesterday, she asked me to visit her house and said, “My husband is on a business trip, and I’m alone at home.”

I was very cautious and asked, “Will your husband suddenly come back?

She said, “No, but just in case he does, you just say that you are from UrbanClap and that your company sent you to clean the house. And then, clean the glass or something.

Anyway, the Diwali festival is coming.
My husband won’t suspect a thing.”

Fast forward, I was at her house. And what a big coincidence – Not even minutes in the house, her husband came back!

I had to be quiet and pretend to do the cleaning, wiping windows, cleaning the kitchen and the floor. And also tidy the bedrooms and wash the bathrooms. All the while, her husband and she was next to me giving all kinds of ridiculous instructions.

When I had finished and was about to leave, her husband asked, ‘How much?”

Even before I could utter a word, she said, “I have already paid the company.”

On the way home, I kept thinking about the whole saga.
The more I thought about it,
the more I felt DAMN cheated 😰…

Cleaners are hard to find, beware of the new scam
🙈🙈😂😂

स्त्रियाँ, कुछ भी बर्बाद
नही होने देतीं।
वो सहेजती हैं।
संभालती हैं।
ढकती हैं।
बाँधती हैं।
उम्मीद के आख़िरी छोर तक।
कभी तुरपाई कर के।
कभी टाँका लगा के।
कभी धूप दिखा के।
कभी हवा झला के।
कभी छाँटकर।
कभी बीनकर।
कभी तोड़कर।
कभी जोड़कर।
देखा होगा ना👱‍♀ ?
अपने ही घर में उन्हें
खाली डब्बे जोड़ते हुए।
बची थैलियाँ मोड़ते हुए।
बची रोटी शाम को खाते हुए।
दोपहर की थोड़ी सी सब्जी में तड़का लगाते हुए।
दीवारों की सीलन तस्वीरों से छुपाते हुए।
बचे हुए खाने से अपनी थाली सजाते हुए।
फ़टे हुए कपड़े हों।
टूटा हुआ बटन हो।
पुराना अचार हो।
सीलन लगे बिस्किट,
चाहे पापड़ हों।
डिब्बे मे पुरानी दाल हो।
गला हुआ फल हो।
मुरझाई हुई सब्जी हो।
या फिर😧
तकलीफ़ देता ” रिश्ता “
वो सहेजती हैं।
संभालती हैं।
ढकती हैं।
बाँधती हैं।
उम्मीद के आख़िरी छोर तक…
इसलिए ,
आप अहमियत रखिये👱‍♀!
वो जिस दिन मुँह मोड़ेंगी
तुम ढूंढ नहीं पाओगे…।

” मकान” को “घर” बनाने वाली रिक्तता उनसे पूछो जिन घर मे नारी नहीं वो घर नहीं मकान कहे जाते हैं ग्रुप की सभी नारियों का सम्मान
🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

गंभीर मजाक 😜

मैं सरकारी अस्पताल में अपने टेस्ट करवाने गया-
फुरसत मिलने पर उधर मौजूद कैंन्टीन से समोसा और जूस खरीदा और मज़े से वहीं खड़े खड़े खाना पीना शुरू कर दिया-

ऐन उसी वक़्त मेरी नज़र कुर्सी पर बैठे एक छोटे बच्चे पर पड़ी जो बड़ी हसरत से मुझे ही देख रहा था- मैंने इंसानी हमदर्दी में जल्दी से उस बच्चे के लिए भी समोसा और जूस खरीदे जो बच्चे ने बिना ना किये ले लिए और जल्दी जल्दी खाने लगा।

बेचारा पता नहीं कब से भूखा होगा- ये सोचकर मैंने ऊपर वाले का शुक्र अदा किया जिसने मुझे एक भूखे को खाना खिलाने का मौका दिया।

इतनी देर में उस बच्चे की मां, जो उसकी पर्ची बनवाने के लिए खिड़की पर खड़ी थी, वापस आई और बच्चे को समोसे का आखिरी टुकड़ा खाते देखा!!!
🧐
फिर अचानक पता नहीं उसे क्या हुआ कि वो दोनों हाथ उठा कर, जोर जोर से चिल्लाने लगी जिसने उसके बच्चे को ये चीज़ें दी उसे गालियां देने लगी ।

कह तो वो बहुत कुछ रही थी, मगर मैंने वहां से फरार होते हुए जो चंद बातें सुनीं वो ये थीं:-

कौन है वो “कमीना” जिसने मेरे बच्चे को समोसा खिला दिया, मैं 25 किलोमीटर दूर से किराया लगा कर उसके खाली पेट टेस्ट करवाने लाई थी”

😉😜🤪😁😀😆😄😝😂🤣
दया करो मगर सोच समझकर

कौन पूरी तरह “काबिल” है
कौन पूरी तरह से “पूरा” है।
हर एक शख़्स कही न कही,
किसी जगह थोड़ा सा “अधूरा” है।।

बहुत सौदे होते हैं संसार में,
मगर, सुख बेचने वाले और
दुःख खरीदने वाले नहीं मिलते।
पता नहीं क्यों लोग रिश्ते
छोड़ देते हैं लेकिन जिद नहीं।।

न हथियार से मिलते हैं न अधिकार से मिलते हैं… दिलों पर कब्जे बस निःस्वार्थ प्यार से मिलते हैं…

सास बहू संवाद,,,त्योंहार स्पेशल …
😀 🤣

पूछा बहू ने सास से,
सम्मुख हैं त्यौंहार
करूँ कहाँ से मैं भला
घर की झाड़ बुहार….
🍭
पहले कमरा झाड़ लूं,
या छत को कर लूँ साफ
समझ नही पा रही हूं मैं,
मम्मीजी बताओ आप…
🍭
सासू बोली बीनणी,
मानो मेरी यह बात…
मोबाइल की सफाई से
कर लो यह शुभ शुरुआत…
🍭
टिनिन टिनिन घंटी बजे,
प्रतिपल ये मैसेज।
पाटो लावण मैं कहूँ,
तू लावे है मेज।।
🍭
पानी माँगे लाडलो,
तू पकड़ावे चाय।
मैं जो कुछ काम बताऊं,
तू रुम में जाय।
🍭
मोबाईल के स्क्रीनपर,
आँख गढ़ी रखती हो एकटक।
आती हूँ मम्मीजी अभी,
सदा एक ही रट…!
🍭
जिस दिन तेरे नेट का,
खत्म होय बैलेंस।
लगता तूने खो दिया हो,
अपना पूरा सेंस।।
🍭
अद्भुत पीड़ा रामजी,
इससे मुझे बचाय।
सवामणी चढाऊँ तुझको,
जो राहत मुझे दिलाय।।
🍭
सुणो बींनणी लाडली,
समय अकारथ जाय।
नेकलेस बनवा दूं तुझको,
करे जो नेट को बाय।।
😃😃

एक मां ने बेटे को फ़ोन किया, “बेटा, इस मंगलवार को छुट्टी लेकर घर आ जाना, कुछ ज़रूरी काम है।”
.
.
.
.
“मम्मी, ऑफ़िस में बहुत काम है, बॉस छुट्टी नहीं देगा।”
.
.
.
मम्मी जी “वो एक रिश्ता आया था तुम्हारे लिये, बड़ी सुंदर लड़की है, सोच रही थी कि एक बार तुम दोनों मिल लेते तो…”
.
.
.
“अरे माँ, बस इतनी सी बात, तुम कहो और मैं ना आऊँ, ऐसा हो सकता है भला..???”

मन में फूट रहे लड्डूओं की आवाज छिपाते हुए बेटे जी ने जवाब दिया।
.
.
बॉस को किसी तरह टोपी पहनाकर, रात को बेटा घर पहुँचा।
.
.
माँ ने कुछ ज्यादा बात नहीं की, बस खाना परोसा और दूसरे दिन जल्दी उठ जाने को कहा।
.
.
सुबह के 4 बजे तक तो नींद बेटे की आँखों से कोसों दूर थी, मोबाइल के अलार्म के साथ ही नींद खुली।😑
.
.
माँ ने चाय देते हुए कहा, “बाथरूम में कपड़े रखे हैं, बदलकर आ जाओ।”
.
.
बाथरूम में पुरानी टी-शर्ट और शॉर्ट्स देखकर बेटे का दिमाग ठनका, 😮
.
.
बाहर आकर बेटे नें पूछा पुराने कपड़े??
माँ ने मनोरम मुस्कान बिखेरते हुए कहा,
“घर की सफाई का बोलती तो तू काम का बहाना बनाकर टाल देता,…

चल अब जल्दी से ये लंबा वाला झाड़ू उठा
तेरा बाप भी बहाने बना कर समाज की मीटिंग में गया है वो भी लड़की की माँ से मिलने के नाम पर आ रहा है

दीवार के कोने साफ कर, बहुत जाले हो गये हैं।
😖😌

Happy Diwali 😭😨😃😃😃

Oxford english to direct #Indore dictionary.

Excuseme – अब्बे
Let him go – जान्दे
Argue – मगजमारी
Attractive – सनन
Fast – लपक के
Smooth – रवां
Ladies – लेडिस्
Brother – भिया
Yes – हउ
Realy – नी यार
Vroom Vroom – सन सनाती
Medicine – दवा दारु
Cunning – शाणा
Girlfriend – सेटिंग
Sizzling – भन्नाट
Understand – सम्पट
Mind – भेजा
Resolved – सलटाना
Unmatched – अंड संड हर कित्ती
Tummy – ढेबरी
Correct – सइ साट.
Yo bro – भाई को
Slapping – चंकट मारना
Punching- डुच मारना
Let’s go – कल्टी मारें
Go – फुट
Wife – हमाई मेडम, आपकी भाभी
😛😛